Indian rural News Agency
 

 

 

 
Home>News
यूपी में किसानों के 36359 करोड़ के कर्ज माफ
Tags: UP GOV FARM LOAN WAVE,
Publised on : 04 April 2017 Time: 21:31    News source: Indian Rural News Agency (IRNA)

लखनऊ। INDIAN RURAL NEWS AGENCY। उत्तर प्रदेश सरकार ने विधान सभा चुनाव के दौरान किये गए वादे के अनुरूप कैबिनेट की पहली बैठक में लघु और सीमान्त किसानों के 36 हजार 359 करोड़ रुपये के ऋण माफ कर दिये हैं। इन कर्जों को प्रदेश सरकार ने अपने ऊपर ले लिया है। बैंकों को यह धनराशि प्रदेश सरकार अपने खजाने से अदा करेगी। इस रकम को जुटाने के लिए सरकार ने किसान बाण्ड जारी करने का फैसला किया है।
लोकभवन सचिवालय में आयोजित कैबिनेट की पहली बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में किसानों के कर्जे माफ करने का निर्णय लिया गया। इस फैसले की जानकारी शाम को लोकभवन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में सरकार के प्रवक्ताओं सिद्धार्थनाथ सिंह और श्रीकांत शर्मा ने दी। प्रवक्ताओं ने बताया कि प्रदेश में 2 करोड़ 30 लाख किसान हैं। इनमें 92.5 प्रतिशत यानि कि 2 करोड 15 लाख सीमान्त और लघु किसान हैं। इनके द्वारा लिए गए फसली ऋण में एक लाख रुपये सीमा तक का ऋण माफ किया गया है। यह धनराशि 30 हजार 729 करोड़ रुपये है। सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों तथा सहकारी बैंकों से लिए गए कर्ज को माफ किया गया है। माफी 31 मार्च 2017 तक के फसली ऋणों पर की गई है।
प्रवक्ता ने बताया कि इसके अलावा प्रदेश में 7 लाख और एेसे किसान हैं जिनके ऋण एनपीए ( नान परफार्मिंग एसेस्ट्स) में चले गए हैं। ऐसे किसानों की एनपीए धनराशि 5 हजार 630 करोड़ रुपये है। इन किसानों का यह एनपीए भी सरकार द्वारा बैंकों को भुगतान किया जाएगा। इस धनराशि को सरकार ओटीएस स्कीम के तहत बैंकों को अदा करेगी। इस तरह प्रदेश सरकार ने किसानों को कुल ऋण माफी 36 हजार 359 करोड़ की है। उन्होंने बताया कि इस धनराशि को सरकार अपने संसाधनों से जुटाएगी। इसके लिए किसान बाण्ड जारी किया जाएगा। इस बाण्ड से प्राप्त रकम को किसानों की कर्ज अदायगी में उपयोग किया जाएगा।
प्रवक्ता के अनुसार चूंकि केन्द्र सरकार के एफआरबीएम एक्ट में यह प्रावधान है कि किसी भी राज्य का फिसकल डेफिसिट उसकी जीडीपी के तीन प्रतिशत से अधिक नहीं हो सकता। इसलिए बाण्ड से पैसा जुटाने की उपाय निकाला गया है।

 

Web Title:

The