Indian rural News Agency
 

 

 

Home>News
दलहनी एवं तिलहनी फसलों को कीट रोगों से बचायें
Tags: Dalhan, tilhan, Director Agriculture U.P. Dev Mitra Singh
Publised on : 01 February 2014, Time: 19:21
News source: Indian Rural News Agency (IRNA)

Lucknow लखनऊ रबी मे उगाई जाने वाली दलहनी फसलों में चना,मटर,मसूर एवं तिलहनी फसलों में राई सरसों का प्रमुख स्थान है, जिसमे कीटों रोगों के प्रकोप के फलस्वरुप उत्पादन प्रभावित होता है। इसलिये यह आवष्यक है कि फसलों की नियमित निगरानी करते रहें तथा प्रकोप की स्थिति मे तत्काल उनके रोकथाम के उपाय अपनायें।

कृषि निदेशक देव मित्र सिंह ने शनिवार को बताया कि दलहनी फसलों में चना की फसल में फली बेधक कीट के नियंत्रण हेतु वैसिलस थूरिनजिएन्सिस बी0टी0 1.00 किग्रा0 अथवा क्यूनालफास 25 प्रतिषत 0सी0,2.00 ली0 अथवा एन0पी0वी0(एच) 250 एल00 प्रति हे0 की दर से 500-600 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें। एस्कोकाइटा ब्लाइट पत्ती धब्बा रोग के नियंत्रण हेतु मैंकोजेब 75 प्रतिषत डब्लू0पी0, 2.00 किग्रा0 अथवा कापरआक्सीक्लोराइड 50 प्रतिषत डब्लू0पी0, 3.00 किग्रा0 प्रति हे0 की दर से 500-600 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव किया जाना चाहिये। फली बेधक कीट के नियंत्रण हेतु वैसिलस थूरिनजिएन्सिस बी0टी0, 1.00 किग्रा0 अथवा क्यूनालफास 25 प्रतिषत 0सी0,2.00 ली0 अथवा फेनवेलरेट 20 प्रतिषत 0सी0 1.00 ली0 मात्रा को प्रति हे0 की दर से 500-600 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें। अल्टरनेरिया ब्लाइट पत्ती धब्बा एवं तुलासिता रोग के नियंत्रण हेतु मैंकोजेब 75 प्रतिषत डब्लू0पी0, 2.00 किग्रा0 अथवा कापरआक्सीक्लोराइड 50 प्रतिषत डब्लू0पी0, 3.00 किग्रा0 प्रति हे0 की दर से 500-600 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें। बुकनी रोग के नियंत्रण हेतु घुलनषील गन्धक सल्फर 80 प्रतिषत डब्लू0पी0, 2.00 किग्रा0 अथवा ट्राइडेमार्फ 80 प्रतिषत 0सी0, 500 मिली0 मात्रा प्रति हे0 की दर से 500-600 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें।

कृषि निदेशक ने बताया कि इसी प्रकार मसूर की फसल में माहू कीट के नियंत्रण हेतु एजाडिरैक्टिन 0.15 प्रतिषत 0सी0,2.50 ली0 अथवा डाइमेथोएट 30 प्रतिषत 0सी0, 1.00 ली0,अथवा मोनोक्रोटोफास 36 प्रतिषत एस0एल0, 750 मिली0 मात्रा प्रति हे0 की दर से 500-600 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें। माहू कीट के नियंत्रण हेतु एजाडिरैक्टिन 0.15 प्रतिषत 0सी0,2.50 ली0 अथवा डाइमेथोएट 30 प्रतिषत 0सी0, 1.00 ली0,अथवा मोनोक्रोटोफास 36 प्रतिषत एस0एल0, 750 मिली0,अथवा क्लोरपाइरीफास 20 प्रतिषत 0सी0,1.00 ली0 मात्रा प्रति हे0 की दर से 600-700 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें। अल्टरनेरिया ब्लाइट पत्ती धब्बा, सफेद गेरूई एवं तुलासिता रोग के नियंत्रण हेतु मैंकोजेब 75 प्रतिषत डब्लू0पी0, 2.00 किग्रा0 अथवा कापरआक्सीक्लोराइड 50 प्रतिषत डब्लू0पी0,  3.00 किग्रा0 प्रति हे0 की दर से 500-600 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव किया जाये।