Indian rural News Agency
   

 

    Home

    News

    Article

    Editorial

    Panchayat

    Agriculture

    Rural Devlopment

    Agri Resurch

    Agri Bussiness

    Agri Education

    About us

    Contacts

    Site Map

    Co Opretive

 

 

आत्मनिर्भर अभियान पैकेज-दो, खेती-किसानी को तीन लाख करोड़

केसीसी पर दो लाख करोड़ अतिरिक्त ऋण की सुविधा

किसानों, मजदूरों और छोटे दुकानदारों के लिए 4 लाख 79 हजार करोड़ की मदद

India Pakege against Cororna crices-2, for Agriculture & Farmers 3 Lakh Crore

Tags:  PM Narendra Modi, Nirmala Sitharaman #Atmnirbhar Bharat Abhiyan, Pakege 2

नई दिल्ली, 14 मई 2020 ( इण्डियन रूरल न्यूज एजेंसी ) आत्मनिर्भर अभियान के लिए बीस लाख रुपये के कुल पैकेज में पार्ट-2 का अधिकांश भाग खेती-किसानी को समर्पित है। लगभग तीन लाख करोड़ रुपये की घोषणाएं किसानों से संबंधित हैं।  अभियान के अन्तर्गत घोषित बीस लाख करोड़े के पैकेज के दूसरे भाग में 4 लाख 79 हजार करोड़ 02 करोड़ रुपये की घोषणाएं की गई हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को पैकेज के विवरण की जानकारी एक पत्रकार वार्ता में दी। पैकेज के पार्ट-2 में 70 प्रतिशत से अधिक धनराशि का व्यय कृषि क्षेत्र से संबंधित है। इसके साथ ही वित्त मंत्री ने एक राष्ठ्र एक राशन कार्ड की भी घोषणा की। साथ ही मजदूरों के लिए रेंटल आवासीय योजना भी लाने की जानकादी दी है। 

पीआईबी में आयोजित पत्रकार वार्ता में वित्त मंत्री सीतारमण ने बताया कि पैकेज का दूसरा हिस्सा पूरी तरह से किसानों, मजदूरों, रेहड़ी फेरी वाले, पटरी वालों और गरीबों के लिए है। वित्त मंत्री ने बताया कि सरकार ने देश के 2.5 लाख किसानों को क्रेडिट कार्ड जारी किये हुए हैं। इन पर किसान तीन लाख रुपये तक का ऋण ले सकते हैं। इस तरह इन केसीसी पर वितरित धनराशि दो लाख करोड़ रुपये होगी। इसके साथ ही नाबार्ड को तीस हजार रुपये इमरजेंसी वर्किंग कैपिटल के रूप में प्रदान किये गए हैं। इसका वितरण 33 राज्य सहकारी बैंकों, 351 जिला सहकारी बैंकों तथा 43 ग्रामीण बैंकों के माध्यम से हो सकेगा। इसके साथ ही 25 लाख नए क्रेडिट कार्ज जारी किये जा रहे हैं। इन पर किसान मछली उत्पादन, पशुपालन का कार्य कर सकते हैं। इसके लिए सरकार ने 25 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था की है।

वित्त मंत्री सीतारमण ने बताया कि राज्यों को रबी की फसल की खरीद करने के लिए छह हजार सात सौ करोड़ रुपये की व्यवस्था की है। यह राशि राज्यों को प्रदान की जाएगी। नावार्ड को 29 हजार करोड़ प्रदान किये गए हैं।

पैकेज में घोषित नई योजनाएं:

1. रेंटल हाउसिंग स्कीम ( श्रमिकों के लिए)

2. एक राशन कार्ड पर देश में कहीं भी राशन

3. आदिवासी और वनवासी क्षेत्रों के लिए कैम्पा योजना

किस मद में कितना होगा व्यय
किसान क्रेडिट कार्ड ( 2.5 करोड़)   2,00,000 करोड़
इमरजेंसी वर्किंग कैपिटल ( ग्रामीण,सहकारी बैंक)   30,000 करोड़
किसान क्रेडिट कार्ड ( 25 लाख नए  क्रेडिट कार्ड)   25,000 करोड़
रबी उपज की खरीद ( राज्यों को सहायता)   6,700 करोड़
नाबार्ड ( किसानों को सहायता के लिए)   29,500 करोड़
ग्रामीण अवस्थापना सुविधाएं ( राज्यों को )   4,200 करोड़
किसाको ऋण स्वीकृत ( माह मार्च और अप्रैल 2020 में)   86,600 करोड़
प्रवासी श्रमिकों के आवास, भोजन  ( राज्यों को)   11,002 करोड़
खाद्यान्न वितरण सहायता ( राज्यों को )   3,500 करोड़
मुद्रा शिशु योजना ब्याज में छूट सहायता   1,500 करोड़
स्ट्रीट बेंडर के लिए सहायता ( प्रति दस हजार)   5,000 करोड़
हाउसिंग लिंक क्रेडिट स्कीम का विस्तार   70,000 करोड़
कंपनसेंटरी अफोर्सेशन मैनेजमेंट एण्ड प्लानिंग अथारिटी (CAMPA)   6,000 करोड़
   
कुल योग   4,79,002 करोड़

 

Web Title: Central Bank anounced three lakh cr for Agriculture and farming

 

Indian Rural News Agency  | Best viewed at 1024*768 pixels resolution  | Disclaimer